यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना 2022 | डाउनलोड नलकूप योजना आवेदन फॉर्म

यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना
यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना

यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना UP Free Boring Yojana : अगर आप किसान है तो इस बात को आप भी महसूस करते होंगे कि खेती करने के लिए जो सबसे ज्यादा जरूरी होती है वह है सही समय पर खेत की सिंचाई इसी को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के तहत किसानों के खेत में बोरिंग की व्यवस्था की जाएगी। इस लेख में हम आपको बताएंगे इस योजना के उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि के बारे में तो इस योजना का लाभ उठाने के लिए इस आर्टिकल को आप पूरा पढ़ें।

Key Highlights Of UP Free Boring Yojana

योजना का नामयूपी निःशुल्क बोरिंग योजना
किसने आरंभ कीउत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के किसान
उद्देश्यनिशुल्क बोरिंग की सुविधा उपलब्ध करवाना
आधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें
साल2022
राज्यउत्तर प्रदेश
आवेदन का प्रकारऑनलाइन/ऑफलाइन

UP Free Boring Yojana 2022

सन 1985 मैं इस योजना का शुभारंभ किया गया था  इस योजना के तहत सामान्य जाति एवं अनुसूचित जाति/जनजाति के लघु एवं सीमांत कृषकों को सिंचाई हेतु बोरिंग की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसान को बैंक से ऋण भी दिया जाता है। सामान्य श्रेणी के लघु एवं सीमांत कृषको को इस योजना का लाभ तभी प्रदान किया जाएगा जब उनके पास न्यूनतम जोत सीमा 0.2 हेक्टेयर है। 0.2 हेक्टेयर से कम जोत वाले सामान्य श्रेणी कृषकों को इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा। यदि कृषकों के पास 0.2 हेक्टेयर से कम जोत है तो किसान इस योजना का लाभ कृषकों को समूह बनाकर प्राप्त कर सकते हैं।

वही अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लघु एवं सीमांत किसानों के लिए किसी पारकर की न्यूनतम जोत सीमा निर्धारित नहीं की गई है। प्रदेश के पठारी क्षेत्रों में जहां हैंड बोरिंग सेट से बोरिंग किया जाना संभव नहीं होगा वहां इनवेल या वैगन ड्रिल मशीन से बोरिंग कराने की अनुमति प्रदान की जाएगी। इस स्थिति में कृषकों को अनुमन्य सीमा तक ही अनुदान देय होगा। अतिरिक्त आय व्यय का भार कृषक द्वारा स्वयं वहन किया जाएगा।

यूपी की और योजनाये

यूपी निशुल्क बोरिंग योजना के अंतर्गत अनुमन्य अनुदान

कृषक की श्रेणअनुमन्य अनुदाअनुमन्य अनुदा
 बोरिंग निर्माण हेतपंपसेट स्थापना हेत
सामान्य श्रेणी के लघु कृषकअधिकतम ₹3000 प्रति बोरिंगयूनिट कास्ट ₹11300 का 25% अधिकतम ₹2800 प्रति पंप सेट
सामान्य श्रेणी के सीमांत कृषकअधिकतम ₹4000 प्रति बोरिंगयूनिट कास्ट ₹11300 का 33% अधिकतम ₹3750 प्रति पंप सेट
अनुसूचित जाति/जनजाति के लघु/सीमांत कृषकअधिकतम ₹6000 प्रति बोरिंगयूनिट कास्ट ₹11300 का 50% अधिकतम ₹5650 प्रति पंप सेट

Note: बुंदेलखंड के उल्लेखनीय जनपद में चिन्हित हुए विकास खंडों में बोरिंग निर्माण के लिए विकासखंड वार अनुदान वास्तविक व्यय अथवा  ₹4500 से ₹7000 जो भी कम हो अनुमन्य होगा एवं अतिरिक्त अनुदान की राशि बुंदेलखंड विकास खंड निधि द्वारा वाहन की जाएगी। इसके अलावा सामान्य अनुसूचित जाति एवं जनजाति के किसानों के लिए यदि बोरिंग की निर्धारित सीमा से बोरिंग की लागत अधिक आती है तो अतिरिक्त व्यय संबंधित लाभार्थी द्वारा प्रचलित प्रक्रिया के अनुसार स्वयं वहन किया जाएगा।

यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना के लाभ तथा विशेषताएं

इस योजना का शुभारंभ इसीलिए किया गया था ताकि इसका फायदा सीधे किसानों तक पहुंचाया जा सके इस योजना का आरंभ 1985 में प्रदेश के लघु एवं सीमांत किसानों को बोरिंग की सुविधा प्रदान करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा  किया गया था

इस योजना के तहत से सामान्य जाति एवं अनुसूचित जाति, जनजाति के लघु एवं सीमांत किसानों को फ्री में सिंचाई के लिए बोरिंग की सुविधा उपलब्ध करवाई जाती है।

बोरिंग के लिए पंपसेट की व्यवस्था कराने के लिए किसान को बैंक द्वारा दिया जाता है।

सामान्य श्रेणी के लघु एवं सीमांत किसानों को इस योजना का लाभ तभी प्रदान किया जाएगा जब उनके पास न्यूनतम जोत सीमा 0.2 हेक्टेयर है।

0.2 हेक्टेयर से कम जोत वाले सामान्य श्रेणी कृषकों को इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा।

यदि किसानों के पास 0.2 हेक्टेयर से कम जोत है तो इस योजना का लाभ किसानों के द्वारा समूह बनाकर दिया जाता है।

अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लघु एवं सीमांत किसानों के लिए कोई न्यूनतम जोत सीमा निर्धारित नहीं की गई है।

यूपी निशुल्क बोरिंग योजना के लिए योग्यता

  • यूपी निशुल्क बोरिंग योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक का उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आवेदक का  किसान होना अनिवार्य है।
  • किसान के पास  न्यूनतम जोत सीमा 0.2 हेक्टेयर होनी चाहिए।
  • यदि कृषक के पास न्यूनतम 0.2 हेक्टेयर की जोत सीमा नहीं है तो किसान समूह बनाकर इस योजना का लाभ उठा  सकता है।
  • इस योजना का लाभ आवेदक को इसी शर्त पर दिया जाएगा की आवेदक ने पहले से किसी प्रकार का अन्य सिंचाई योजना का लाभ ना लिया हो।

महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु का प्रमाण
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना की प्राथमिकताएं एवं प्रतिबंध

  • बोरिंग करने के उपरांत इस बात का ध्यान रखा जाए कि जहां बोरिंग की जा रही है वहा खेती उपस्थित है कि नही।
  • अतिदोहित/क्रिटिकल विकास खंडों में कार्य नहीं किया जाएगा।
  • बोरिंग के संबंध में इस बात का ध्यान रखा जाएगा कि प्रस्तावित पंपसेट से लगभग 3 हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि की सिंचाई हो सके।
  • वह विकास खंड जो सेमी क्रिटिकल कैटेगरी में है उनमें नाबार्ड द्वारा स्वीकृत सीमा के अंतर्गत ही चयन किया जाएगा।
  • पंपसेट के मध्य दूरी नाबार्ड द्वारा जनपद विशेष के लिए निर्धारित दूरी से कम नहीं होनी चाहिए।
  • समग्र ग्राम विकास योजना एवं नक्सल प्रभावित समग्र ग्राम विकास योजना के अंतर्गत चयनित किए गए ग्रामों में सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर बोरिंग का कार्य किया जाएगा।
  • उपलब्ध धनराशि से समग्र ग्राम विकास योजना एवं नक्सल प्रभावित समग्र ग्राम विकास योजना के ग्रामों को सर्वप्रथम पूर्ति की जाएगी।

यूपी निशुल्क बोरिंग योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • इस योजना का आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले लघु सिंचाई विभाग, उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहा आप योजनाएं के विकल्प पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आप आवेदन पत्र के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आपके सामने पीडीएफ फॉर्मेट में ऑनलाइन आवेदन पत्र खुल कर आएगा।
  • अब आप इसका प्रिंट आउट निकाल ले।
  • इसके बाद आप आवेदन पत्र में पूछे गए सभी प्रश्नों का उत्तर भरें।
  • इसके पश्चात ऊपर बताई गई सभी दस्तावेजों का फोटो कॉपी इस फॉर्म के साथ अटैच कर दे।
  • इसके पश्चात आपको यह आवेदन पत्र नजदीकी लघु सिंचाई विभाग में जमा करना होगा।

संपर्क विवरण

  • कार्यालय का पता- मुख्य अभियंता, लघु सिंचाई विभाग, तृतीय तल, उत्तर विंग, जवाहर भवन, लखनऊ 226001
  • फोन नं० : 2286627 / 2286601 / 2286670
  • फैक्स : 2286932
  • ईमेल : [email protected]

2 thoughts on “यूपी निःशुल्क बोरिंग योजना 2022 | डाउनलोड नलकूप योजना आवेदन फॉर्म”

  1. Pingback: यूपी शिशु हित लाभ योजना आवेदन पीडीएफ फॉर्म | UP Shishu Hit Labh Yojana 2022 Form - UP Helper

  2. Pingback: उत्तर प्रदेश गोपालक योजना रजिस्ट्रेशन 2022 | UP Gopalak Yojana Apply - UP Helper

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top
JOB OPPORTUNITY FOR B.TECH, BE GRADUATES AT NCR GOOGLE HIRING PLATFORM DESIGN ENGINEER ANZ HIRING B.TECH, BE, BCA, MCA GRADUATES MP High Court Junior Judicial Assistant Online Form 2022 ABB HIRING FINANCE, ACCOUNTING GRADUATES, POSTGRADUATES, CA, CMA, MBA